Bank Kon Kon Se Loan Deti Hai – Bank कौन कौन से लोन देती है ?

0
Bank Kon Kon Se Loan Deti Hai

दोस्तों सबसे पहले यह जानना ज़रूरी है की लोन क्या होता है। दोस्तों लोन को हिंदी में ऋण या कर्ज भी कहते हैं । लोन तब लिया जाता है जब इंसान को पैसों की सख्त जरूरत होती है और उसके पास ना कोई बचत होती है और ना कोई और साधन होता है जहां से वह पैसों का इंतजाम कर सके । लोन चाहे तो किसी लोन देने वाली एजेंसी, प्राइवेट कंपनी, सरकारी कंपनी या किसी व्यक्ति से भी लिया जा सकता है। जब हम किसी व्यक्ति से लोन लेते हैं तो उसको चुकाने के वक्त हमें उस पर कुछ प्रतिशत ब्याज भी देना पड़ता है।

हर कंपनी हर व्यक्ति का अपना एक अलग ब्याज दर होता है और उस हिसाब से हमें ब्याज देना पड़ता है। लोन की सबसे खास बात यह है कि लोन केवल एक प्रकार का नहीं होता यह अन्य प्रकार का होता है और इससे हम अपने तरह-तरह के अलग-अलग काम आसानी से कर सकते हैं। और पैसे आने पर हम इसे तुरंत चुका सकते हैं ।लोन चुकाने का एक सीमित समय होता है जो व्यक्ति या कंपनी द्वारा दिया जाता है। और लोन लेते वक्त हमें अपने कुछ सिक्योरिटी भी दिखानी पड़ती है जैसे हमारे पास नौकरी का होना अनिवार्य है या हमें कोई अपना कीमती सामान गिरवी रखना पड़ता है ,ताकि लोन देने वाले व्यक्ति या कंपनी को हम पर भरोसा हो कि हम लोग चुकाने वापस आएंगे ।

आज हम इस पोस्ट में जानने वाले हैं कि लोन कितने प्रकार के होते हैं ।बैंक द्वारा लोन किस-किस कामों के लिए दिया जाता है और कितने समय के लिए दिया जाता है। आपको बैंक द्वारा दिए गए लोन के प्रकारों को जानने के लिए हमारे इस पोस्ट को आखिरी तक पढ़ना होगा। तो संपूर्ण जानकारी के लिए पढ़ते रहिए इस पोस्ट को आगे तक–

समय के हिसाब से मिलने वाले लोन कितने प्रकार के होते हैं ?

समय के आधार पर, लोन तीन प्रकार के होते हैं –

  1. शॉर्ट टर्म लोन – इस लोन का  समय एक साल से कम होता है ।
  2. मिड टर्म लोन – इस लोन का समय एक  साल से लेकर तीन साल के बीच होता है ।
  3. लॉन्ग टर्म लोन – इस लोन का समय पांच साल से अधिक होता है।

भारतीय बैंक कितने तरह के लोन देता है ?

  • पर्सनल लोन
  • होम लोन
  • एजुकेशन लोन
  • प्रॉपर्टी लोन
  • गोल्ड लोन
  • लोन अगेंस्ट सिक्योरिटी
  • कार लोन

पर्सनल लोन 

पर्सनल लोन का मतलब्र होता है खुद के लिए लिया गया लोन , खुद के पर्सनल कामों के लिए यह लोन लिया जाता है। बैंक इस लोन को देने के लिए ज्यादा दस्तावेजों की मांग नहीं करता। बस आपके पास कमाई का साधन होना अनिवार्य है। लेकिन पर्सनल लोन को ब्याज दर अन्य लोन से थोड़ी अधिक होती है और पर्सनल लोन का अमाउंट छोटा बड़ा दोनो प्रकार का होता है। पर्सनल लोन को चुकाने का आपको मैक्सिमम समय 5 साल मिल जाता है। इस लोन से आप कोई भी सामान खरीद सकते हैं, इलाज करवा सकते हैं, बिल भर सकते हैं, घूम सकते हैं आदि ।

होम लोन

घर खरीदने या घर बनाने के लिए को लोन लिया जाता है उसे होम लोन कहते हैं। होम लोन  को चुकाने के लिए बैंक कम से कम 5 साल से लेकर 20 साल तक का समय देती है ।

एजुकेशन लोन 

एजुकेशन लोन स्टूडेंट्स द्वारा लिया जाता है। एजुकेशन लोन उन स्टूडेंट्स को मिलता है जो या तो बाहर जा कर पढ़ना चाहते हैं या भारत में ही किसी बड़े नामी कॉलेज मे पढ़ना चाहते हैं। एजुकेशन लोन पढ़ाई पूरी होने के बाद चुकाना होता है।

प्रॉपर्टी लोन

प्रॉपर्टी लोन आपकी अपनी प्रॉपर्टी के कागज गिरवी रख कर लिया जाता है। आपकी प्रॉपर्टी की कीमत का 40% से लेकर 70%  तक का लोन आप ले सकते हैं।यह लोन 15 साल लगभग के लिए दिया जाता है।

गोल्ड लोन 

गोल्ड लोन गोल्ड का कोई सामान बैंक को गिरवी रख कर लिया जाता है । आपके गोल्ड के प्राइस का 80% अमाउंट आप लोन ले सकते हैं । इस पर 10% साल के हिसाब से ब्याज लगता है ।

लोन अगेंस्ट सिक्योरिटी

आपके द्वारा किए गए इन्वेस्टमेंट के पेपर यानी सिक्योरिटी पेपर को बैंक में जमा कर के आप लोन ले सकते हैं। इसे लोन अगेंस्ट सिक्योरिटी कहते है।

कार लोन 

कोई भी गाड़ी लेने के लिए को लोन बैंक द्वारा दिया जाता है वह कार लोन होता है। इस प्रकार के लोन पर बैंक तरह तरह के ऑफर जैसे काम ब्याज ज्यादा समय निकालता रहता है।

तो दोस्तो इस पोस्ट के माध्यम से आपने जाना लोन के प्रकारों के बारे में। आशा करते हैं आपके लिए  हमारे द्वारा दी जाने वाली जानकारी लाभदायक होती हो। आपका हमें समय देने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here